लोहा और पारश का स्पर्श | akbar birbal stories in hindi

बीरबल एक दिन सन्ध्या समय बादशाह बीरबल को साथ ले घुड़सवारी द्वारा हवा खाने के लिये महल से बाहर निकले । ये आपस में वार्तालाप करते हुए मध्य बाजार में जा पहुंचे । वहाँ सब प्रकार की वस्तुएँ बिक रही थीं, परन्तु इन्हें क्या प्रयोजन जो कहीं उतर कर कुछ सौदा खरीदते ।   इसी … Read more

सीढियाँ कितनी हैं | akbar birbal stories in hindi

Akbar Birbal बादशाह अकबर और बीरबल महल के बाग में टहल रहे थे। शहंशाह मूड में थे। उन्होंने बीरबल से सवाल कर दिया, “बीरबल, क्या तुम्हें मालूम है कि तुम्हारी पत्नी की कलाइयों में कितनी चूड़ियां हैं?तुम तो दिन में कई बार पत्नी का हाथ पकड़ते होंगे।”   बीरबल दुविधा में पड़ गए। उन्होंने तो … Read more