सियार और शेर की कहानी | Punchatantra Stories in Hindi

एक बार जंगल में महाचतुरक नाम का एक सियार रहा करता था। एक दिन वह जंगल में घूम रहा था कि उसकी दृस्टि एक मरे हुए हाथी पर पड़ी। मरे हुए हाथी को देख वह उसके चरों तरफ चकर लगाकर यह सोचने लगा कि आखिर इसकी सख्त चमड़ी कैसे फाड़ी जाये। सियार बहुत कोशिश  करने … Read more

सांप मेंढक कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

   सांप  मेंढक कहानी (Panchatantra Stories in Hindi) एक जंगल में एक बूढ़ा सांप रहता था। एक दिन बहुत मेहनत करने के बाद भी उसे खाना नहीं मिला। उसने सोचा कि मुझे कोई ऐसा उपाय सोचना चाहिए जिससे मुझे ज्यादा मेहनत न करने पर  भी भोजन प्राप्त हो जाये।    यह सोचकर उसने यह उपाय किया कि … Read more

शेर सियार और बोलने वाली गुफा की कहानी | panchatantra stories in hindi

एक बार जंगल में खरनखर नाम एक शेर रहा करता था। एक दिन गर्मी भरे दिन में बहुत मेहनत करने के बाद भी उसके हाथ कुछ नहीं लगा। श्याम होने पर जब वह भूख के मारे चल भी नहीं पा रहा था, तब उसको एक गुफा दिखाई दी। गुफा देखकर वह सोचने लगा, रात के … Read more

बैल के पीछे-पीछे चलने वाले सियार की कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

  एक बार एक बहुत ताकतवर और जानदार, तगड़ा बैल जंगल में अपना चारा ढूंढते हुए जंगल में शान से घूम रहा था।  घूमते हुए वह एक तालाब के करीब पंहुचा।   वहीँ तालाब के किनारे सियार और सियारन का जोड़ा बैठा था जो अपने भोजन के लिए मेंढक पकड़ कर अपना गुजरा करते थे। … Read more

बुनकर और धन की कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

 बुनकर और धन की कहानी (Panchatantra Stories in Hindi)  बुनकर और धन की कहानी एक गांव में एक बुनकर रहता था जो विभिन्न प्रकार के अच्छे-अच्छे वस्त्र बनाकर बेचता था और अपनी रोजी रोटी कमाता था। एक दिन वह अपनी पत्नी से कहता है-   “प्रिय! हमारा यह वस्त्रों का काम अन्य धनि बुनकरों के … Read more

राजा और बंदर की कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

एक बार एक राजा का बहुत ही ईमानदार बंदर था जो राजा का विश्वाश जीत कर मनमाने तरीके से महल में घुमा करता और राजा की हर आज्ञा का पालन करता। वह राजा के साथ हर समय रहता था राजा भी उसे मनमाने तरीके से राजमहल में रहने देता। एक बार राजा ने सोते समय उस … Read more

लोहे की तराजू और बनिए की कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

एक बार एक नगर में जीर्णधन नाम का एक बनिया रहता था। एक बार उसके मन में विदेश जाने की इच्छा हुई। धन की कमी होने के कारन वह अपनी पुश्तैनी लोहे से बनी अपनी तराजू किसी सेठ के घर जमा करवा कर विदेश चला गया। मनमाने तरीके से विदेश घूमने पर बाद में वह अपने नगर … Read more

बगुले और सांप की कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

 एक बार बगलों से भरे हुए पेड़ में काला सांप रहा करता था। वह  बगलों के छोटे-छोटे बालों वाले बच्चों को खाकर अपना जीवन यापन  करता था। बगले उससे  दुखी थे। एक बगला अपने बच्चों के खाये जाने के दुःख से दुखी होकर तालाब के किनारे रोने लगा। तभी वहां एक केकड़ा आकर उससे कहता … Read more

धर्म बुद्धि और पाप बुद्धि मित्रों की कहानी | panchatantra stories in hindi

 किसी नगर में धर्मबुद्धि और पापबुद्धि नाम के दो मित्र थे जो गरीब थे। एक समय पापबुद्धि ने सोचा, मैं बहुत दरिद्र हूँ, इसलिए इस धर्मबुद्धि के साथ  प्रदेश जाकर वहां से धन कमाकर उसे ठगूंगा और धनवान बन जाऊंगा।  पापबुद्धि ने धर्म बुद्धि से इस विषय पर चर्चा की। धर्मबुद्धि उसके विचार से प्रसन होकर अपने बड़ों … Read more

चिड़िया और बंदर की कहानी | panchatantra stories in hindi

एक बार एक वृक्ष पर चिड़िया का परिवार रहा करता था। एक दिन वह सुखपूर्वक वृक्ष की डाल पर अपने घोसले में बैठी थी। तभी आसमान से धीरे धीरे बारिश होने लगी और ठंठी हवा चलने लगी। उसी समय ठण्ड के मारे एक बंदर कांपता हुआ, अपने दान्त घटघटाता हुआ उस वृक्ष के निचे आकर … Read more