अनाथ लड़की ~ premchand ki kahani

अनाथ लड़की सेठ पुरुषोत्तमदास पूना की सरस्वती पाठशाला का मुआयना करने के बाद बाहर निकले तो एक लड़की ने दौड़कर…

0 Comments

नेकी ~ premchand ki kahani

नेकी सावन का महीना था। रेवती रानी ने पांव में मेहंदी रचायी, मांग-चोटी संवारी और तब अपनी बूढ़ी सास ने…

0 Comments

राजहठ ~ premchand ki kahani

राजहठ दशहरे के दिन थे, अचलगढ़ में उत्सव की तैयारियों हो रही थीं। दरबारे आम में राज्य के मंत्रियों के…

0 Comments

पुत्र-प्रेम ~ premchand ki kahani

पुत्र-प्रेम बाबू चैतन्यादास ने अर्थशास्त्र खूब पढ़ा था, और केवल पढ़ा ही नहींथा, उसका यथायोग्य व्याहार भी वे करते थे।…

0 Comments

मिलाप ~ premchand ki kahani

मिलाप लाला ज्ञानचन्द बैठे हुए हिसाब-किताब जाँच रहे थे कि उनके सुपुत्र बाबू नानकचन्द आये और बोले- दादा, अब यहां…

0 Comments