ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां पहले से हमारी हैं। लेकिन हम अपनी आँखों पर हाथ रख लेते हैं और कहते हैं कितना अंधकार है।

धर्म ही हमारे राष्ट्र की जीवनशक्ति है। यह शक्ति जब तक सुरक्षित है, तब तक हमारे राष्ट्र को कोई भी शक्ति नष्ट नहीं कर सकती। 

सफलता के लिए एक समय में एक ही काम करो, और ऐसा करते समय अपनी पूरी आत्मशक्ति उसमे डाल दो और बाकि सब भूल जाओ। 

किसी भी व्यक्ति को जाने बिना, दूसरों के उसके प्रति विचारों को सुनकर उसके प्रति किसी भी प्रकार की धारणा बना लेना मूर्खता है। 

जीवन शक्ति है, मृत्यु निर्बलता है। विस्तार जीवन है, संकुचन मृत्यु है। प्रेम जीवन है, द्वेष मृत्यु है। 

किसी दिन जब आपके सामने कोई समस्या न आये, आप सुनिश्चित कर सकते हैं कि आप गलत मार्ग पर हैं 

घमंडी नहीं जिद्दी बनो, चाहे पहाड़ जैसे ऊँचे बनो या नहीं परन्तु समंदर जैसे गहरे जरूर बनो 

छाता और दिमाग तभी काम करते हैं जब खुलें हो बंद होने पर दोनों बोझ लगते हैं। 

इसी प्रकार के सुविचार  पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट करें। 

Arrow