10 sher ki Kahani | शेर की कहानी संग्रह

4.2/5 - (89 votes)
Sher ki Kahani

शेर और चूहे की कहानी ~ शेर की कहानी

जंगल में शेर गहरी नींद में सो रहा था. तभी वहां एक चूहा आ गया, वह बड़ा शरारती चूहा था. शेर को सोया देख वह शेर के ऊपर खेलने लगा.

इससे शेर की नींद खुल गयी और उसे बहुत गुस्सा आया. गुस्से में शेर अपने पंजे से चूहे को मारने ही वाला था कि चूहे ने कहा “महाराज…मुझे मत मारिये, मुझसे गलती हो गयी. मैं वादा करता हूँ कि जब भी आप मुसीबत में होंगे मैं आपकी मदद ज़रूर करूँगा”

ये सुन शेर को बड़ी हंसी आयी और उसने कहा “तुम मेरी क्या मदद करोगे, तुम इतने छोटे से हो, जाओ तुम्हे माफ़ किया”

कुछ दिन बाद जंगल में एक शिकारी आया और उसके जाल में शेर फंस गया. तभी वहां से चूहा गुज़र रहा था. शेर को मुसीबत में देख वह उसके पास आया और कहा “आप चिंता मत कीजिये महाराज, मैं अभी आपकी मदद करता हूँ”

चूहे ने कुछ ही मिनटों में अपने तेज़ दांतो से जाल काट दिया और शेर को आज़ाद कर दिया. तब से शेर और चूहा अच्छे मित्र बन गए.

यह भी जाने: शेर और खरगोश की कहानी


शेर का आसन ~ शेर की कहानी

शेर जंगल का राजा होता है। वह अपने जंगल में सब को डरा कर रहता है। शेर भयंकर और बलशाली होता है। एक दिन शहर का राजा जंगल में घूमने गया। शेर ने देखा राजा हाथी पर आसन लगा कर बैठा है। शेर के मन में भी हाथी पर आसन लगाकर बैठने का उपाय सुझा। शेर ने जंगल के सभी जानवरों को बताया और आदेश दिया कि हाथी पर एक आसन लगाया जाए। बस क्या था झट से आसन लग गया। शेर उछलकर हाथी पर लगे आसन मैं जा बैठा। हाथी जैसे ही आगे की ओर चलता है , आसन हिल जाता है और शेर नीचे धड़ाम से गिर जाता है। शेर की टांग टूट गई शेर खड़ा होकर कहने लगा – ‘ पैदल चलना ही ठीक रहता है। 

यह भी जाने: चालाक लोमड़ी की कहानी (फोटो के साथ)

 


राजा और बन्दर ~ शेर की कहानी

एक जंगल में सभी जानवर शेर के आतंक से परेशां थे. शेर हर रोज़ एक जानवर को खा जाता था. एक दिन सभी जानवरो ने सभा बुलाई और विचार किया कि शेर के आतंक से कैसे बचा जाए.

इतने में एक खरगोश आगे आया और कहा “मैं इस समस्या का हल ढूंढ लूंगा, मुझे एक मौका दीजिये”

अगले ही दिन खरगोश शेर के पास गया और उसे कहा “महाराज….सभी जानवर आपको इस जंगल का राजा मानते है लेकिन एक समस्या उत्पन्न हो गयी है.

शेर ने पुछा कि क्या हुआ तो खरगोश ने कहा “महाराज…जंगल में एक और शेर आ गया है और वो कहता है कि आपको मार देगा”

शेर गुस्से में लाल हो गया और खरगोश को कहा “मुझे लेकर चलो उस शेर के पास, मैं आज ही उसे मार दूंगा”

खरगोश गुस्से में लाल उस शेर को एक कुएं के पास ले गया और कहा “महाराज…वो शेर इस कुएं में है”

जैसे ही शेर ने कुएं में झाँका उसे उसकी परछाई दिखी. गुस्से में शेर ने दहाड़ लगायी और कुएं में कूद गया और अपनी जान गवा बैठा।

जंगल के सभी जानवरो ने खरगोश का धन्यवाद किया और फिर सभी शांति से रहने लगे.

 

Leave a Comment