Rahim ke dohe class 9 | रहीम के दोहे कक्षा 9

rahim

कक्षा 9वी के लिए रहीम के दोहे अर्थ सहित (Rahim ke dohe class 9)   रहिमन धागा प्रेम का, मत तोड़ो चटकाय।टूटे से फिर ना मिले, मिले गाँठ परि जाय।। शब्दार्थ: 1. चटकाय – चटकाकर या चटक कर टूट जाना, 2. गांठ – बांधना अर्थ: रहीम जी इस दोहे के माध्यम से यह बताना चाहते हैं … Read more