गौरत की कटारे ~ munsi premchand ki kahani

गौरत की कटारे कितनी अफ़सोसनाक, कितनी दर्दभरी बात है कि वही औरत जो कभी पाहमारे पहलू में बसती थी उसी के पहलू में चुभने के लिए हमारा तेज खंजर बेचैन हो रहा है। जिसकी आंखें हमारे लिए अमृत के छलकते हुए प्याले थीं वही आंखें हमारे दिल में आग और तूफान पैदा करें! रूप उसी … Read more

खुदी ~ premchand ki kahani

खुदी  मुन्नी  जिस वक्त दिलदारनगर में आयी, उसकी उम्र पांच साल से ज्यादा उन थी। वह बिलकुल अकेली न थी, माँ-बाप दोनों न मालूम मर गये या कहीं परदेस चले गये थे। मुन्नी सिर्फ इतना जानती थी कि कभी एक देवी उसे खिलाया करती थी और एक देवता उसे कंधे पर लेकर खेतों की सैर … Read more

कबीर के दोहे – 151 kabir ke dohe in hindi with meaning.

संत कबीर दास के 151 दोहे अर्थ सहित

परिचय जन्म 1440 वाराणसी मृत्यु 1518 मघर धर्म  सर्वोच्च ईश्वर (किसी भी धर्म को नहीं मानते थे) अन्य नाम कबीरदास, कबीर परमेश्वर, कबीर साहेब कबीर जीवन परिचय समय के ऊपर कबीर के दोहे (kabir ke dohe for time in hindi) कबीर गाफील क्यों फिरय, क्या सोता घनघोर तेरे सिराने जाम खड़ा, ज्यों अंधियारे चोर। अर्थ- कबीर … Read more

50+ suvichar in Hindi for students and school.

suvichar in hindi for students

नमस्कार दोस्तों क्या आप भी स्टूडेंट हो और कुछ अच्छे सुविचार (suvichar in hindi for students) ढूंढ रहे हो। तो आपका मेहनत यहाँ पर समाप्त हो जाती है क्योंकि मैं आपके लिए बहुत ही मेहनत करके 50 से भी ज्यादा सुविचार लेकर आया हूँ यही नहीं उनके फोटो भी आपको यहाँ से मिल जाएँगी अगर … Read more

विशाल राक्षस और बंदर की कहानी (Panchatantra Stories In Hindi With Moral)

एक नगर में भद्रसेन नाम का एक राजा रहता था। उसकी कन्या रत्नवती थी। उसे हर समय यही डर रहता था कि कोई राक्षस उसका अपहरण न कर ले। उसके महल के चारों ओर पहरा रहता था, फिर भी वह सदा डर से काँपती रहती थी। रात के समय उसका डर और भी बढ़ जाता … Read more

बंदरों की कहानी (Panchatantra Stories In Hindi With Moral)

एक नगर के राजा चन्द्र के पुत्रों को बन्दरों से खेलने का व्यसन था। बन्दरों का सरदार भी बड़ा चतुर था। वह सब बन्दरों को नीतिशास्त्र पढ़ाया करता था। सब बन्दर उसकी आज्ञा का पालन करते थे। राजपुत्र भी उस बन्दरों के सरदार वानरराज को बहुत मानते थे। उसी नगर के राजगृह में छोटे राजपुत्र के … Read more

गधे की कहानी (Panchatantra Stories In Hindi)

एक गाँव में उद्धत नाम का गधा रहता था। दिन में धोबी का भार ढोने के बाद रात को वह स्वेच्छा से खेतों में घूमा करता था। सुबह होने पर वह स्वयं धोबी के पास आ जाता था। रात को खेतों में घूमते-घूमते उसकी जान-पहचान एक गीदड़ से हो गई। गीदड़ मैत्री करने में बड़े … Read more

चार मूर्ख ब्राह्मणों की कहानी (Panchatantra Short Stories In Hindi With Moral)

एक स्थान पर चार ब्राह्मण रहते थे। चारों विद्याभ्यास के लिए कान्यकुब्ज गए। निरन्तर बारह वर्ष तक विद्या पढ़ने के बाद वे सम्पूर्ण शास्त्रों के पारंगत विद्वान हो गए। किन्तू व्यवहार बुद्धि से चारों खाली थे। विद्याभ्यास के बाद चारों स्वदेश के लिए लौट पड़े। कुछ दूर चलने के बाद रास्ता दो तरफ था ।-किस … Read more

मूर्ख वैज्ञानिकों की कहानी (Panchatantra Stories In Hindi Short)

एक नगर में चार मित्र रहते थे। उनमें से तीन बड़े वैज्ञानिक थे, किन्तु बुद्धि रहित थे; चौथा वैज्ञानिक नहीं था, किन्तु बुद्धिमान् था। चारों ने सोचा कि विद्या का लाभ तभी हो सकता है, यदि वे विदेशों में जाकर धन-संग्रह करें। इसी विचार से वे विदेश-यात्रा को चल पड़े। कुछ दूर जाकर उनमें से … Read more