success story of narendra modi in hindi

 success story of Narendra Modi in Hindi

success story of Narendra Modi
narender modi

नरेंद्र मोदी जी का जीवन परिचय 

भारत के सबसे लोकप्रिय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी को आज कौन नहीं जनता। मोदी जी हमारे देश की राजनीती के लिए बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हैं।  बहुत से लोग उनके किये गए कामों के कारन उन्हें प्यार करते हैं या नफरत पर उनके द्वारा किये गए कामो को कभी नहीं भूलते। 
 आज हम आपको नरेंद्र मोदी जी के बचपन से लेकर आज तक यानि देश के प्रधान मंत्री बनने तक के सफर के बारे में आपको जानकारी देंगे।
  शायद आप भी  narendra modi की success story को पढ़ कर Motivet हो जाएँ और अपनी जिंदगी में देश के लिए कुछ कार्य करें।  
 

नरेंद्र मोदी जी बायोग्राफी 

नरेंद्र मोदी जी का जन्म बॉम्बे राज्य के मेहसांग जिले के वडनगर नाम के एक गांव में 17 सितम्बर 1950 क़ो हुआ था। जानकारी के लिए आपको बता दें की बॉम्बे राज्य भारत का ही एक राज्य था। इसे 1960 में अलग कर महाराष्ट्र और गुजरात बना दिया गया। लेकिन अब मोदी जी का जन्म गुजरात राज्य के अंतर्गत आता है। 
 

माता पिता 

मोदी जी की पिता का नाम दामोदरदास मूलचंद मोदी था।  मां का नाम हीराबेन मोदी है। 
 
 

नरेंद्र मोदी जी का बचपन

मोदी जी के जन्म के समय उनका परिवार बहुत ही गरीब था और वो एक छोटे से कच्चे मकान में रहते थे। नरेंदर मोदी जी अपने माता पिता की तीसरी संतान हैं और वे कुल 6 संताने हैं।  मोदी जी के पिता रेलवे स्टेशन पर एक छोटी सी चाय की दुकान चलाते थे। नरेंद्र मोदी जी उस समय पढाई कर रहे थे जब उन्होंने अपने अपने पिता जी के साथ हाथ बटाने के लिए ट्रेनों में जा-जा कर चाय बेचना शुरू कर दिया था। लेकिन इस बिच उन्होंने अपनी पढाई नहीं रोकी वो पढ़ने के लिए भी बहुत मेहनत करते थे। 
 
नरेंद्र मोदी जी अपने स्कूल में नाटकों और भाषणों में जमकर भाग लेते थे और इसके साथ-साथ उन्हें खेल कूद में भी बहुत दिलचस्पी थी। उन्होंने अपने स्कूल की पढाई वडनगर से पूरी की थी। 
 

युवा आयु 

जब वो 13 साल के हो गए तो उनके माता पिता ने उनकी सगाई करने करने का निर्णय कर लिया और उनकी सगाई कर दी और 17 साल की उम्र में उनकी शादी कर दी गई।  नरेंद्र मोदी जी के जीवन लेखकों का मानना है कि उनकी शादी के बाद वो साथ नहीं रहे  और उन्होंने कुछ समय बाद अपना घर छोड़ दिया। 

उनका मानना था की एक शादीशुदा व्यक्ति के मुकाबले एक बिना शादीशुदा व्यक्ति भ्र्ष्टाचार्य से ज्यादा अच्छी तरीके से लड़ सकता है। 

 

मोदी जी की देश भक्ति 

मोदी जी के अंदर देश भक्ति बहुत ही ज्यादा थी। इसी कारण मोदी जी 1962 के भारत चीन के बिच हुई युद्ध में जवानो से भरी ट्रेनों में मोदी जी उनको चाय और खाना खिलते थे। इसी तरह 1965 में भारत पाकिस्तान युद्ध में भी मोदी जी ने जवानो की सेवा में कोई कमी नहीं रखी। 
 

नरेन्द्र मोदी की सफलता (Success Story of Narendra Modi In Hindi)

1971  में मोदी जी आर एस एस के प्रचारक बनके पूरा समय आर एस एस को ही देने लगे।  वहां पर वह जल्दी सुबह उठ कर काम में जुट जाते और देर रात तक जी जान से काम करते। 
 
प्रचारक होने के कारण उन्होंने गुजरात के लोगों की समस्याओं को बहुत ही करीबी से समझा। इस तरह उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का आधार मजबूत किया। 
 
1975 के आसपास जब राजनितिक क्षेत्रों में विवाद के कारण कईं राज्यों में आपातकाल लगा था जिसके कारण आरएसएस जैसी सस्थाओं को बंद कर दिया गया था उस समय मोदी जी ने 
चोरी छिपे सरकार की गलत नीतियों का जमकर विरोध किया। 
 
इस समय उन्हीने एक किताब भी लिखी थी। जिसका नाम संघर्ष माँ गुजरात था।  इसमें मोदी जी ने गुजरात की राजनीती के बारे में लिखा था। मोदी जी ने आरएसएस में रहते हुए 1980 में गुजरात विश्व विद्यालय से राजनितिक विज्ञानं से पीजी की डिग्री प्राप्त की। 
 
वे आरएसएस में अपने काम के कारण चर्चा में आने लगे और उनके काम को देखते हुए मोदी जी को भजपा में नियुक्त कर दिया गया। उन्होंने 1990 में अडवाणी की भव्य रथ यात्रा का आयोजन किया।
 
 इससे भाजपा पार्टी के लीडर बहुत ज्यादा प्रभावित हुए और उन्होंने भाजपा पार्टी में अपने कामों के चलते अपने महत्व को बढ़ाया। मोदी के इसी तरह के कामो के कारण गुजरात में 1995 के चुनावों में उनकी पार्टी ने विधान सभा के चुनावो में बहुमत में अपनी सरकार बना ली।
 
सरकार के चलते मोदी जी से कहासुनी होने के बाद शंकरशीन वाघेला ने पार्टी से इस्तीफा देर दिया। जिसके कारण केशव भाई पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बना दिया गया। 
 
और मोदी जी को दिल्ली बुलाया गया और भजपा में संगठन के लिए केंद्रीय मंत्री की जिम्मेवारी दी गई और मोदी जी ने इस जिम्मेवारी की भी बहुत अच्छी तरह से निभाया। और मोदी जी को दिल्ली बुलाया गया और भजपा में संगठन के लिए केंद्रीय मंत्री की जिम्मेवारी दी गई और मोदी जी ने इस जिम्मेवारी की भी बहुत अच्छी तरह से निभाया। 
 
 

नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री 

जैसा कि आप जानते हैं की 2001 में गुजरात के मुखयमंत्री की यानि केशव भाई पटेल की सेहत बहुत खराब हो गई थी और साथ ही भाजपा कई सीटें भी हर रही थी। इसी कारण भारतीय जनता पार्टी ने नरेंद्र मोदी जी को गुजरात के मुख्य मंत्री पद की जिम्मेवारी सौंपी 
इस तरह मोदी जी ने अपना पहला कार्यकाल 7 अक्टुबर 2001 से शुरू किया। इसके बाद मोदी जी ने राजकोट विधान सभा चुनाव लड़ा। इसमें उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी अश्विन मेहता को बहुत ही अच्छे अंतर से हराया। 
 

गोधरा कांड

 आपको याद दिला दें कि मार्च 2002 में गोधरा नमक शहर में रेलवे स्टेशन पर साबरमती ट्रेन की बोगी में आग लगा दी गई थी। जिसके कारण 59 लोगों की जान जाली गई थी। परिणामस्वरूप गुजरत के कई शहरों में साम्प्रदायिक दंगे होने लगे।  
जिसमे 1200 से अधिक लोगों की जान चली गई।  इसमें मोदी जी के दल का नाम जोड़ा गया और कांग्रेस सहित कई विरोधी पार्टियों ने मोदी जी से इस्तीफे की मांग की। 
इस कांड की जाँच के लिए हाई कोर्ट ने एक विशेष दल बनाया जिसमे मोदी जी के खिलाफ कोई भी साबुत नहीं मिला और मोदी जी निर्दोष साबित हुए। 
 

गुजरात में नरेंद्र मोदी जी के कार्य 

(Success Story of Narendra Modi In Hindi)

मोदी जी ने गुजरात का मुख्य मंत्री रहते हुए गुजरात में बहुत सुधार किया। मोदी जी ने गुजरात के घर घर में बिजली और पानी सड़के और गलियां पहुंचाई। मोदी जी ने टुररिज़म को बढ़ावा दिया जिससे राज्य की अर्थवयवस्था अच्छी बनाई जा सके। 
मोदी जी के शासन काल में एशिया के सबसे बड़े सोलर पार्क का निर्माण हुआ। जिससे बिजली की समस्या कम हो गई। 
मोदी जी के शासन काल में पहली बार राज्य की सभी नदियों को आपस में जुड़ा गया। इससे राज्य में पानी की सभी समस्याएं सुलझ गई। ऐसा कार्य भारत में कभी किसी ने नहीं किया था। 
मोदी जी ने गुजरात में इतने अद्भुद कार्य किये की उनकी तारीफ आज भी गुजरात के लोग करते हैं। मोदी जी के कार्यों के कारण और देश भक्ति के कारण मोदी जी ने गुजरात राज्य को भारत का सबसे बेहतरीन राज्य बना दिया। 
मोदी जी के बेहतरीन कार्य के लिए मोदी जी को गुजरात के लोगों ने लगातार 4 बार मुख्य मंत्री बनाया।  
 

देश के 15वें प्रधानमंत्री 

(Success Story of Narendra Modi In Hindi)

मोदी जी के कार्य को देखते हुए 2014 में भाजपा के लीडर्स ने मोदी जी को प्रधानमंत्री के पद के लिए उमीदवार बनाया। मोदी जी ने सोशल मिडिया का फायदा बहुत ही अच्छी तरह से उठाया और बहुत सारी रैलियां की और अपने विचारों को लोगो के समक्ष  प्रकट किया।
 
 इसी करण वह भारत के 15वें प्रधानमंत्री बने।  मोदी जी दिन में 18 घंटे काम करते हैं। शायद यही कारण है कि वह देश के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री हैं।  
 

मोदी जी के विचार 

वह योग और शाकाहार को अपने जीवन में बहुत महत्त्व देते हैं।  मोदी जी का मानना है की माँ का आशीर्वाद ही दुनिया में सबसे बढ़कर है इसके आगे दुनिया के सभी धन और सम्पत्ति तुच्छ है।  
 
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई success story of narendra modi in hindi जानकारी पसंद आयी हो तो इसे शेयर करें और हमें कमेंट भी जरूर करें। अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद। 

Leave a Comment