शिकारी, सूअर और सियार की कहानी (Panchatantra Moral Stories In Hindi)

एक बार पर्वतों भरे जंगल में एक शिकारी रहा करता था एक दिन वह शिकार की तलाश में निकल पड़ा। चलते चलते एक पहाड़ पर भागता  हुआ उसे एक सूअर दिखा जिसे मारने के लिए वह उसके पीछे  भागा और अपने धनुष पर तीर चढ़ा कर उसे कान तक खिंच लिया और सूअर की और वार … Read more

ब्राह्मणी और तिलों की कहानी (short panchatantra stories in hindi)

एक नगर में ब्राह्मण और और उसकी पत्नी रहा करते थे। वे गरीब थे जिस कारन ब्राह्मण भिक्षा मांग कर अपनी रोजी रोटी कमाता था। एक दिन ब्राह्मण अपनी पत्नी से कहने लगा- “प्रिय ! आज दक्षिणायन संक्रांति है जो भी इस दिन दान करता है वह अनत फल पाता है इसलिए तू किसी ब्राह्मण … Read more

2.1 साधु और चूहे की कहानी (panchatantra stories in hindi language)

एक नगर में बहुत पुराना शिव का मंदिर था। उसमे एक सन्यासी रहा करता था जो दिन में भिक्षा मांग कर अपना गुजरा करता था। भीख मांगने के बाद उसके पास बहुत खान पान की चीजें इकठ्ठा हो जाती थी जिसे वह भिक्षा पात्र में रख कर मंदिर में एक ऊँचे घूंट पर लटका देता … Read more

बैल के पीछे-पीछे चलने वाले सियार की कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

  एक बार एक बहुत ताकतवर और जानदार, तगड़ा बैल जंगल में अपना चारा ढूंढते हुए जंगल में शान से घूम रहा था।  घूमते हुए वह एक तालाब के करीब पंहुचा।   वहीँ तालाब के किनारे सियार और सियारन का जोड़ा बैठा था जो अपने भोजन के लिए मेंढक पकड़ कर अपना गुजरा करते थे। … Read more

बुनकर और धन की कहानी | Panchatantra Stories in Hindi

 बुनकर और धन की कहानी (Panchatantra Stories in Hindi)  बुनकर और धन की कहानी एक गांव में एक बुनकर रहता था जो विभिन्न प्रकार के अच्छे-अच्छे वस्त्र बनाकर बेचता था और अपनी रोजी रोटी कमाता था। एक दिन वह अपनी पत्नी से कहता है-   “प्रिय! हमारा यह वस्त्रों का काम अन्य धनि बुनकरों के … Read more