मेहनत करने वालों को कभी हार नहीं होती | short moral stories

short moral stories for kids in Hindi

short moral stories for kids in Hindi
मेहनत करने वालों को कभी हार नहीं होती 

एक समय की बात है। छोटू नाम का एक लड़का था। जो एक मध्य वर्ग के परिवार से सम्बन्ध रखता था। वह अपने स्कूल बिना नागा किये जाया करता था छोटू अभी पांचवी कक्षा में था।  वो बहुत अधिक पढ़ता था।


 लेकिन वह अपने प्रश्नो के उत्तर याद नहीं कर पाता था। वो प्रश्नो के उत्तर याद करने के लिए बहुत अधिक मेहनत करता था लेकिन जब परीक्षा का समय आता तो सभी उत्तर भूल जाता। जैसे कैसे करके उसने पांचवी कक्षा की परीक्षा पास कर ली और छोटू छठी कक्षा में चला गया। 


लेकिन छठी कक्षा की पढ़ाई उसके लिए बहुत मुश्किल थी  छोटू बहुत मेहनत करता पर प्रश्नो के उत्तर उसे याद नहीं हो पाते थे 


सभी बच्चे उसे कहने लगे तुम्हारे बस की यह पढ़ाई नहीं है तुम स्कूल छोड़ दो।  लेकिन छोटू ने हार नहीं मानी। 


वह स्कूल से आकर सारा दिन पढ़ा करता था और देर रात तक पढाई करता था। 


समय बीतता चला गया और परीक्षा का दिन आ गया। इस बार भी उसने बहुत मेहनत की थी लेकिन वह इस बार परीक्षा में सफल न हो पाया। सभी उसके ऊपर हंसने लगे एक दिन वह निराश हो कर गांव कुए के पास बैठ गया। 


तभी वहां पानी भरने के लिए एक बूढी ओरत आयी जब वह पानी  भरने के लिए कुए से पानी निकलती थी तो पानी निकलने वाली रस्सी एक पत्थर पर लगड़ाती थी जब कुए से पानी निकाला जाता तब भी वह रस्सी उस पत्थर से रगड़ती। 


छोटू ने देखा कि कईं सालों से उस पत्थर पर रस्सी के रगड़े जाने से पत्थर पर रस्सी जैसा ही निशान पड़ गया था। 


अब छोटू के दिमाग में एक बात आयी कि अगर यह मामूली सी रस्सी लगातार इस पत्थर से रगड़ने पर अपना निशान छोड़ सकती है तो लगातार मेहनत करने पर मुझे भी प्रश्नो के उत्तर जरूर याद होंगे। 


छोटू ने उस पत्थर और रस्सी से सीख ली  और पहले से ज्यादा मेहनत लगा इस बार वह छठी कक्षा में बहुत अच्छे अंको से सफल हुआ सभी उसकी तारीफ करने  लगे। धीरे धीरे करके उसने सभी परीक्षाएं पास की। 


अब छोटू बहुत बड़ा विज्ञानिक बन चूका है। 



शिक्षा 

 इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि अगर आप किसी  कार्य में सफलता हांसिल करना चाहते हैं और सफलता नहीं मिल रही तो छोटू की तरह उसी कार्य पर अपना ध्यान केंद्रित कर दीजिये जैसे कि रस्सी पत्थर पर सिर्फ एक जी जगह पर रगड़ती गयी और कुछ ही समय में उस मामूली से रस्सी ने उस कठोर पत्थर  पर भी अपना निशान छोड़ दिया। 


इस तरह आपको कभी न कभी तो सफलता जरूर मिलेगी अगर सफलता नहीं मिलती तो और ज्यादा उस लक्ष्य के लिए मेहनत करें। 


आपको सफल होने के लिए यह तो समझना ही होगा कि असफलता ही आपको सफल बनाती है। अगर आप असफल हुए तो समझ लीजिये कि आप अगली बार उस कार्य को बहुत ही अच्छे तरीके से करेंगे और लगातार मेहनत करने पर जरूर कामयाब होंगे। 


क्या आपको यह short moral stories for kids in hindi कहानी पसंद आयी ? अगर आपका कोई सवाल या विचार है तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं। 

Leave a Comment