अधूरा ज्ञान बर्बादी का कारण | moral stories for kids in Hindi

moral stories for kids in Hindi 

moral stories for kids in Hindi
अधूरा ज्ञान बर्बादी का कारण

एक समय की बात है एक बहुत ही गरीब आदमी  हुआ करता था उसके पास सिर्फ एक छोटा  खेत ही था जिससे वह कुछ फसल ऊगा कर बेचता था और कुछ रोजी रोटी कमाता और अपने परिवार का पालन पोषण करता था।  हर साल फसल अच्छी हुआ करती थी। 


 लेकिन एक बार उसकी फसल कीड़ा लगने की वजह से धीरे धीरे  बर्बाद हो रही थी किसान बहुत डर गया कि इस बार अगर उसकी फसल नहीं हुई तो वो अपने परिवार का पालन-पोषण कैसे करेगा  


वह किसान निराश होकर फसलों की दवाई की दुकानों पर गया और दुकानदार से कहने लगा –


मेरी फसल को धीरे धीरे कीड़ा खा रहा है मुझे कोई ऐसी दवाई दीजिये कि मेरी फसल में लगा हुआ कीड़ा मर जाये और मेरी फसल अच्छी हो जाये। 


दुकान दार ने जवाब दिया –


हमारी दुकान पर ऐसी दवाई तो है पर उसको अपनी फसल में इस्तेमाल पहले आपको इसमें लिखे हुए निर्देशों का पालन करना होगा। 


किसान ने कहा –


कृपया करके मुझे वो कीटनाशक दवाई दे दें। मैं निर्देशों का पालन जरूर करूँगा। 


किसान ने कीटनाशक ले लिया और उसमे लिखे हुए निर्देशों को पढ़ा  कुछ निर्देशों का उसने पालन किया लेकिन उसमे यह भी लिखा हुआ था कि आप इस कीटनाशक का फसल में प्रयोग करने से पहले कृषि विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 


किसान ने सोचा कि सिर्फ लिखे हुए निर्देश ही काफी हैं।  इसके बाद किसान अपनी फसल में उस कीटनाशक का छिड़काव करने लगा। लेकिन उसने विशेषज्ञ की सलाह नहीं ली थी जिसके कारण उसने कीटनाशक की जरुरत से ज्यादा मात्रा फसल में  छिड़क दी।  कुछ दिन बाद उसने देखा कि उसकी फसल बिलकुल  सुख गई है अब उसके पास अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए कोई रास्ता नहीं था। 


अब किसान  पछताया कि अगर उसने विशेषज्ञ की सलाह ली होती तो इस साल भी उसकी फसल अच्छी होती। 



शिक्षा 

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमेशा अधूरा ज्ञान  बर्बादी का कारण बनता है। हमेशा सम्पूर्ण ज्ञान प्राप्त करके ही अपना कोई भी काम करें। 


क्या आपको यह moral stories for kids in hindi कहानी पसंद आयी ? अगर आपका कोई सवाल या विचार है तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं। 

Leave a Comment